आर्थराइटिस क्या होता है: लक्षण, कारण और उपचार (What is arthritis)

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आर्थराइटिस क्या होता है: लक्षण, कारण और उपचार

परिचय

आर्थराइटिस एक ऐसी समस्या है जो जोड़ों को प्रभावित करती है। इससे आमतौर पर वृद्ध लोगों को पीड़ा होती है। यह रोग विशेष रूप से बढ़ते उम्र वालों में होता है लेकिन इसके लक्षणों को अनदेखा करने के कारण युवा लोग भी इससे पीड़ित होते हैं। इस लेख में, हम आर्थराइटिस के बारे में विस्तार से जानेंगे।

आर्थराइटिस क्या होता है?

आर्थराइटिस एक ऐसी समस्या है जिसमें जोड़ों में संबंधित ऊतकों में सूजन और दर्द होता है। इससे गठिया कहलाता है। यह जोड़ों की संरचना को बिगाड़ता है जो कि चलने और अन्य गतिविधियों के लिए जरूरी होती हैं। आर्थराइटिस की कुछ सामान्य तस्वीरें नीचे दी गई हैं:

अंग्रेज़ी नाम: Rheumatoid arthritis

यह आर्थराइटिस का एक विस्तृत रूप है जो अधिकतर महिलाओं में पाया जाता है। इसमें जोड़ों के ऊतक के अंदरीय सतह के विकास से जोड़ों की संरचना बिगड़ती है।

अंग्रेज़ी नाम: Gout

यह आर्थराइटिस का एक और रूप है जो उच्च मात्रा में मोम के अवशोषण से होता है। यह रोग जोड़ों में अधिक से अधिक दर्द के साथ तथा जोड़ों के बाहर गांठ के रूप में भी होता है।

आर्थराइटिस के लक्षण

आर्थराइटिस के लक्षण अलग-अलग होते हैं लेकिन आमतौर पर निम्नलिखित होते हैं:

  • जोड़ों में स्थायी सूजन
  • जोड़ों के दर्द
  • जोड़ों में स्थिरता
  • जोड़ों की संरचना में परिवर्तन
  • गतिविधियों में कमी
  • जोड़ों के बहुत कम या कोई आराम न होना

आर्थराइटिस के कारण

आर्थराइटिस के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें से कुछ निम्नलिखित हैं:

  • वायुमंडलीय अस्थिरता
  • वृद्धावस्था
  • वजन का अतिरिक्त होना
  • ट्रेवल
  • अनुभव की गई घावों या ट्रम्पों से हुए जोड़ों के क्षतिग्रस्त होने के कारण दोषित होना
  • खाद्य संबंधी परेशानियों से प्रभावित होना
  • विषाक्त पदार्थों से संपर्क में आना
  • आर्थराइटिस वाले माता-पिता से आनुवंशिक रूप से यह समस्या आपको हो सकती है

आर्थराइटिस के इलाज

यदि आपको आर्थराइटिस का शिकार हो तो आप निम्नलिखित उपचार कर सकते हैं:

  • दवाओं का उपयोग
  • थर्मल थेरेपी का उपयोग
  • शारीरिक व्यायाम करना
  • आहार में परिवर्तन करना

आर्थराइटिस के घरेलू उपचार

यदि आप आर्थराइटिस से पीड़ित हैं तो आप निम्नलिखित घरेलू उपचार का उपयोग कर सकते हैं:

  • आधुनिक अदरक और लहसुन का उपयोग करना
  • अदरक का उपयोग करके मालिश करना
  • सोंठ का उपयोग करना
  • ताजा नींबू और नींबू का उपयोग करना
  • सबुत धनिया का उपयोग करना

निषेधाज्ञाएं

यदि आप आर्थराइटिस से पीड़ित हैं तो आपको निम्नलिखित निषेधाज्ञाओं का ध्यान रखना चाहिए:

  • दुबलापन वाली कुर्सियों पर नहीं बैठना
  • लंबी घड़ी तक एक ही स्थिति में न बैठना
  • लम्बे समय तक सोने से बचना
  • ज्यादा वजन न उठाना
  • अधिक धूम्रपान न करना

समाप्ति

आर्थराइटिस का संबंध गलत आदतों और बीमारियों के साथ होता है और इससे बचाव के लिए आपको नियमित रूप से व्यायाम करना, स्वस्थ आहार लेना और धूम्रपान और शराब से दूर रहना चाहिए। यदि आपको आर्थराइटिस के लक्षण होते हैं, तो आपको निश्चित रूप से अपने चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए।

Leave a Reply